Udad khareed Saransh अरहर उड़द खरीद सारांश 2024-25 rkdmultiplex

Udad khareed Saransh अरहर उड़द खरीद सारांश 2024-25

Udad khareed Saransh अरहर उड़द खरीद सारांश 2024-25 rkdmultiplex छत्तीसगढ़ जनसंपर्क विभाग द्वारा 20 जुलाई 2022 को दी गई जानकारी के अनुसार राज्य सरकार खरीफ विपणन वर्ष 2022-23 में किसानों से समर्थन मूल्य पर तुअर, उड़द और मूंग की खरीदी करेगी.

प्रमुख बिंदु

  • कृषि विकास एवं किसान कल्याण तथा जैव प्रौद्योगिकी विभाग द्वारा न्यूनतम समर्थन मूल्य पर अरहर, उड़द एवं मूंग फसल की खरीदी के संबंध में सभी संभागायुक्तों, कलेक्टरों सहित मार्कफेड एवं मंडी बोर्ड को विस्तृत दिशा-निर्देश जारी किये गये हैं।
  • उड़द एवं मूंग की खरीदी 17 अक्टूबर 2022 से 16 दिसम्बर 2022 तक तथा अरहर की खरीदी 13 मार्च 2023 से 12 मई 2023 तक की जायेगी।

    अरहर उड़द खरीद सारांश 2024-25 udad khareed Saransh rkdmultiplex
    अरहर उड़द खरीद सारांश 2024-25 udad khareed Saransh rkdmultiplex
  • इनकी खरीदी छत्तीसगढ़ राज्य सहकारी विपणन संघ मार्कफेड के माध्यम से की जाएगी। किसानों से अरहर और उड़द 6,600 रुपये और मूंग 7,755 रुपये प्रति क्विंटल की दर से खरीदी जाएगी.
  • अरहर, मूंग और उड़द की खरीद के लिए भंडारण सुविधाओं वाली 25 कृषि उपज मंडियों को खरीद केंद्र के रूप में पहचाना गया है।
  • भाटापारा, गरियाबंद, महासमुंद, बसना, दुर्ग, बेमेतरा, राजनांदगांव, खैरागढ़, डोंगरगढ़, गंडई, कवर्धा, पंडरिया, मुंगेली, लोरमी, सक्ती, रायगढ़, अंबिकापुर, सूरजपुर, रामानुजगंज, जशपुर, कोंडागांव, केशलपुर, पशकाल, अरहर की खरीदी , मूंग एवं उड़द का कृषि मण्डी में समर्थन मूल्य पर किया जायेगा।
  • उपार्जन केन्द्र पर आवश्यक भौतिक संसाधन, उपकरण एवं मानव संसाधन की व्यवस्था मार्कफेड द्वारा की जायेगी।
    अरहर उड़द खरीद सारांश 2024-25 udad khareed Saransh rkdmultiplex
  • किसान को ‘एकीकृत किसान पोर्टल’ पर पंजीकृत करने के बाद उपलब्ध डेटा NAFED को दिया जाएगा। खरीद के लिए डेटा को NAFED द्वारा ई-समृद्धि पोर्टल में एकीकृत किया जाएगा और उपरोक्त किसानों की टैगिंग चयनित खरीद केंद्रों से की जाएगी। डाटा के आधार पर किसानों से खरीद कर भुगतान किया जाएगा। किसानों की भूमि, बोई गई फसल का क्षेत्रफल आदि का स्थलीय सत्यापन एवं रेंडम सत्यापन किया जाएगा।
  • उपार्जन केन्द्रों पर किसानों की सामान्य जानकारी के लिए एफएक्यू उत्पाद का प्रदर्शन सुनिश्चित करने के साथ ही यह भी सुनिश्चित किया जाएगा कि एफएक्यू मानक की अरहर, उड़द एवं मूंग समर्थन मूल्य से कम पर उपार्जन केन्द्र पर न बेची जाए। एफएक्यू गुणवत्ता की खरीद की सघन मॉनिटरिंग की जाएगी।
  • उपार्जन केन्द्र की तैयारी से लेकर संग्रहण तक उपार्जन कार्य की निगरानी के लिए रैंडम सैंपलिंग के लिए नैफेड के साथ एक राज्य स्तरीय संयुक्त टीम का गठन किया जाएगा। किसान से खरीदी गई मात्रा की एक मुद्रित रसीद, जिसमें देय राशि का उल्लेख होगा, उपार्जन केंद्र प्रभारी द्वारा हस्ताक्षरित कर किसान को दी जाएगी।
  • गौरतलब है कि खरीफ सीजन 2022 में राज्य में एक लाख 40 हजार हेक्टेयर में अरहर, 22 हजार हेक्टेयर में मूंग और एक लाख 75 हजार हेक्टेयर में उड़द की खेती का लक्ष्य है. कृषि विभाग द्वारा राज्य में 94,500 मीट्रिक टन अरहर, 12,100 मीट्रिक टन मूंग तथा 70,000 मीट्रिक टन उड़द का उत्पादन अनुमानित है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

five × two =

Scroll to Top